Thursday, September 30, 2010

************* पाँच मिनटोंमें संगणकपर हिंदी सीखें

-- पाँच मिनटोंमें संगणकपर हिंदी सीखें -- Also read some policy related issues here
पांच मिनटोंमें सीखो कम्प्यूटर पर हिंदी लिखना

बच्चों, अब तो स्कूलोंमें संगणक (कम्प्यूटर) सिखाया जाने लगा और तुममेंसे कईयोंके घर में भी होगा। तो क्या तुम जानते हो कि संगणक पर हिंदी सीखने के लिये एक युक्ति है जिसमें केवल आधा घंटा पर्याप्त है। वह भी अंग्रेजी टंकन-ज्ञान पर निर्भरता के बिना। और अगर पूरी बात कहूँ तो हरेक भारतीय भाषा सीखनेकी यही युक्ति है।

इस युक्तिका नाम है इनस्क्रिप्ट की-लेआउट अर्थात् संगणकके की-बोर्ड या कुंजीपटलपर चलनेवाला एक विशिष्ट वर्णक्रम जो पहली कक्षामें पढे वर्णक्रम जैसा ही है। लेकिन इसे सीखनेसे पहले तुम्हें बस एक बार अपने संगणककी परीक्षा लेनी है कि वह इसे सरलतासे जानता है या उसे थोडी आरंभिक कठिनाई होनेवाली है। और अगर इसे सरलतासे नही आता हो तो तुम उसे  यह युक्ति सिखा सकते हो।
तो पहले संगणककी परीक्षा इस प्रकार --
Go to start --; setting -- control panel -- Regional and Language -- click
एक खिडकी खुलेगी जिसके ड्रॉप-डाउन मेन्यू पर लिखा होगा - ENG. मेन्यूमें संसारकी बीसियों भाषाएँ मिलेंगी, और यदि हिंदी भी मिल जाय तो समझो तुम्हारा संगणक परीक्षा पास हो गया। अब हिंदीको क्लिक करो और अप्लाय तथा ओके के बटन भी दबाओ।। ऐसा करते ही संगणकके सबसे नीचेवाली पट्टीपर (टास्क-बार पर) EN दीखने लगेगा और क्लिक करनेपर हिंदी का ऑप्शन भी मिलेगा।
यह काम केवल सबसे पहली बार करना है -- बारबार नही।
 यदि तुम्हारे संगणकपर विण्डोज ७ या विणअडोज १० या लीनक्स सिस्टम है तो यह काम एक मिनटमें हो जाना चाहिये।
अब पहले वर्ड फाईल खोलकर फिर हिन्दी का ऑप्शन ले आओ और कोई भी कुंजी दबाओ तो हिंदी अक्षर मिलेंगे।
तो अब तुम्हारा संगणक पास हो गया और तुम इनस्क्रिप्ट विधीसे हिंदी सीखना आरंभ कर सकते हो।














[यदि संगणकमें विण्डो 7 की बजाय थोडा पुराना विण्डो Xp हो तो संगणक पास होनेमें दिक्कत हो सकती है। उस हालत में मुझे ईमेल भेजकर पूछना --leena.mehendale@gmail.com]
यह चित्र देखो जिसमें इनस्क्रिप्ट ले-आऊट बताया गया है।
इस लेआऊटमें वर्णोंका क्रम वैसे ही चलता है जैसा हमने कक्षा एकमें पढा होता है -- अर्थात् कखगघ..., चछजझ..., या अआइईउऊ... । अतः कुंजियाँ खोजनेकी दिक्कत नही है, जो अंग्रेजी सीखनेमें है । साथही इसमें तमाम व्यंजन दायें और स्वरकी मात्राएँ बाँये हाथसे लगानेका चलन है, जिससे अपनेआप एक लयसी बँध जाती है और थोडीही प्रॅक्टिसमें टंकनका काम तुम शीघ्र गतिसे कर सकते हो।

अब चिन्ता छोडो की तुम्हारे कुंजीपटलपर हिंदी स्टिकर तो लगे ही नही हैं -- बस निश्चिंत होकर यहाँ दिये पाठ पढो, कुंजीपटल देखो और सीखो यह युक्ति।

पहले दो मिनटोंमें सीखो बीस अक्षर
कख-गघ --- सामान्य कुंजीपटलके अंग्रेजी अक्षर K-I की जोडी देखो। यही कख और गघ हैं।
तथ- दध --- अगली दो कुंजियाँ L-O हैं जो तथ, दध के लिये हैं,
चछ- जझ --- अगली चछ,जझ की
टठ -डढ --- और उससे अगली टठ डढ की।
र ह --- क के बाँई ओर JU की कुंजीसे र-ह लिखते हैं और
पफ -बभ ---उससे बायें H-Y पर पफ, बभ हैं।
कुंजियोंकी ये जगहें समझकर आत्मसात् करनेको दो मिनट पर्याप्त हैं।
कठिन (भारी) अक्षरके लिये (अर्थात् खघ,थध,छझ,ठढ,फभ) शिफ्टके साथ कुंजी दबानी होगी।

अगले दो मिनटोंमें सीखो और बीस अक्षर

बाँईं ओर की पाँच कुंजी-जोडियों बाराखडी के दस स्वरोंके लिये हैं। इन्हे भी हमने पहली कक्षामें रटा था -- अआइईउऊएऐओऔअंअः

अ आ – अंग्रेजी अक्षर DE की जोडी
इ ई – FR की जोडी
उ ऊ – GT की जोडी
ए ऐ – SW की जोडी
ओ औ – AQ की जोडी
इनका क्रम ओऔ,एऐ,अआ,इई,उऊ रखा गया है क्योंकि इसमे सुविधा है। यहाँ अंग्रेजी अक्षर मैंने केवल पहली बार जगह बताने के लिये लिखे हैं, याद करने के लिये नही।
शिफ्टकुंजी के साथ लिखनेपर स्वतः स्वर लिखा जाता है परन्तु किसी व्यंजनकी मात्रा लगाने के लिये शिफ्ट कुंजी नही लगेगी।
इस प्रकार दस मात्राएँ तथा उन्हें लगाने का तरीका समझने के लिये अगले दो मिनट पर्याप्त हैं।

इन कुंजियोंको समझकर यदि हम प्रॅक्टिस करें --
काकी, चाची, दादी, ताई, ताऊ, बाबा, पापा, काका, चाचा, टाटा, दीदी -- तो इस कुंजी रचना की सरलता तत्काल मोह लेती है।
वैसे कुछ पाठ मैंने बनाये हैं जो तुकबंदी सहित हैं ताकि तुम उन्हें गाकर कंठस्थ कर लो।यहाँ उन्हें भी देख लो।







बचे अक्षरोंको एक बार ढूँढ कर समझ जा सकता है।
शिफ्टके साथ ५,६,७,८, अंकोंकी कुंजियोंसे ज्ञ त्र क्ष श्र तथा + की कुंजीसे ऋ लिखते हैं।
सबसे निचली पंक्ति में तिसरी कुंजीसे आरंभ कर म (शिफ्ट के साथ ण), न, व, ल (शिफ्ट के साथ मराठी, कन्नड आदि भाषाओंका ळ), स (शिफ्ट के साथ श), ष तथा अन्तिम कुंजीपर य (शिफ्ट के साथ बंगालीका दूसरा य) हैं।
ड से अगली कुंजी पर ञ है। शिफ्ट के साथ ह की कुंजीसे ङ लिखते हैं।
अनुस्वार के लिये अक्षर लिखने के बाद अंग्रेजी X की कुंजी लगाना। इसे शिफ्ट के साथ लगानेपर चंद्रबिंदु लगता है।
जरासे अभ्यास से ये याद हो जाते हैं।

संयुक्त अक्षर
संस्कृत के नियमानुसार व्यंजन में अ लगाकर उसे पूरा किया जाता है। जब कि यहाँ किसी भी कुंजीसे पूर्ण व्यंजन लिखा जाता है ताकि अ की मात्रा बारबार न लगानी पडे। अतः इस कुंजीपटलमें अ की कुंजी (Dअक्षर पर) लगानेपर वहाँ हलन्त लगता है और अगला व्यंजन उसमें जुड जाता है।
यदि लिखना हो क्रम तो क , हलन्त ,र ,म
परंतु कर्म लिखने के लिये क, र , हलन्त , म लिखा जायगा।
कृपा लिखनेके लिये क में ऋ की मात्रा (बिना शिप्ट के) और विसर्ग चिह्न के लिये शिफ्टके साथ - की कुंजी लगती है।
संगणक के सामने बैठकर लिखने लगो तो यह सब पढनेमें जितना समय लगता है उससे आधे समय में ही यह सब सीखा जाता है। नीचे शिफ्टकुंजी के बिना और शिफ्टकुंजी के साथवाले कीबोर्ड के चित्र अलग अलग दिखाये हैं।
















यदि संगणक ही परीक्षा में फेल गया तो तुम्हें उसकी मदद करनी पडेगी।
Regional and Language के मेन्यू में हिंदी न मिले तो उसे विण्डोजकी सीडी से लोड करना पडेगा। विण्डोज ऑपरेटिंग सिस्टम की सीडी में एक i386 फाईल होती है जिससे ये हिंदी फॉण्ट संगणककी समझ में आते हैं। यह फाइल विण्डोज की सीडी पर रखी होती है, लेकिन हर संगणक पर बाय डिफाल्ट लोड नही होती ।इसीलिये तुम्हें अलगसे डालनी पडेगी। यदि तुम्हारे पास सीडी न हो तो किसी दोस्तकी सीडीसे i386 फाईल को पेनड्राइव्ह पर ले आओ और उससे लोड करो।
तो बस सीखो हिंदी फटाफट और भेजो मुझे हिंदी ईमेल मेरा पता है -- leena.mehendale@gmail.com
यदि संभव हो तो इनस्क्रिप्ट सीखने का मेरा यह  विडियो भी देखो जो मैंने अपनी यूट्यूब sanskrittv पर रखा है।
-------------------------------------------------------------------------------------

15 comments:

ePandit said...

बहुत बढ़िया क्विकस्टार्ट गाइड।

यदि संगणक परीक्षा में फेल हो जाता है (विण्डोज़ ऍक्सपी पर क्योंकि विण्डोज़ ७ में पहले से पास होता है) तो हमारे बनाये इण्डिक ऍक्सपी टूल से आप नो झंझट सटासट इंस्टालर द्वारा बिना सीडी के उसे पास करा सकते हैं।

पूरी जानकारी यहाँ देखें।
http://epandit.shrish.in/labs/IndicXP

विजय नगरकर Vijay Nagarkar said...

इस उपयोगी जानकारी के लिए हार्दिक धन्यवाद।

सपना said...

नमस्कार मीना जी,
आपका ब्लॉग देखकर बहुत प्रभावित हुई और स्वयं को इसपर टिप्पणी देने से रोक नहीं पाई.

वैसे में पूर्वोत्तर रेलवे में राजभाषा विभाग में राजभाषा सहायक के पद पर कार्यरत हूँ और यहाँ अपनी रेल पर सभी को यूनिकोड पर कार्य करना, अनुवाद और इस रेल की वेबसाइट का हिंदी में रख-रखाव आदि कार्य करती हूँ.
- सपना खरे.

peekay said...

excellent tutorial

it's the inscript layout that is confusing ..

pls comment on axar (cnet.com)

धनंजय said...

अति सुंदर व सरल पाठ-प्रस्तुति। मैं आज से ही इस ब्लाग का लिंक अपने परिचितों को भेजना शुरु कर रहा हूँ।

praveen kumar said...

अति उत्तमम्

saralhindi said...

Mina Ji,

Why not learn Hindi in India's simplest Nuktaa and shirorekhaa free Gujarati script or in Roman Script resembling old Brahmi script?

Google Transliteration.
http://www.google.com/intl/gu/inputtools/cloud/try/

saralhindi.wordpress.com

NARHARI said...

i regret why i did not see ur blog. having worked on it... I love ... no words to express gratitude.
ab main bhi hindi tankan praramh karoonga.
regards

उत्तराखण्ड बाल कल्याण संस्थान said...

अद्भुत और आश्चर्य जनक | कृ. अपना गोवा का नम्बर देने का कष्ट करें | बांग्लादेश भी जुड़ रहा है आप से आवश्यक विमर्श भी करना है | 21 अप्रेल तिथि मिली है | आप कृ.अवश्य मार्गदर्शन देने का कष्ट करें |
राज सक्सेना खटीमा

free as freedom said...

अभी धीरे धीरे लिख पा रहा हूँ

Anil Kumar Goel said...

आप म
Respected Madam,
Thanks for this very useful blog. As I understood from this, it is converting the current keyboard into Hindi keyboard.

Can certain stickers ( or sticker set ) be developed,quite small in size that can be stuck on blank space ( free space)on keys of the current key board.
Certain sticker manufacturer may like to consider it, as social service or a business proposition or in fact both.

It will not be expensive. No new machine is required. it is routine job for any sticker manufacturer.
It is basically making a set of stickers of all Hindi letters and maatraaz of size 4mm x 4mm or 3mm x 3mm
Regards.
Dr. A K Goel

वैश्विक हिंदी सम्मेलन मुंबई said...

महोदया,

आपके प्रयास, आपका जज्बा वंदनीय है । शब्द नहीं है व्यक्त करने के लिए । यदि सभी विद्यालयों में माध्यमिक स्तर पर हिंदी या राज्य की भाषा में इन्स्क्रिप्ट कुंजी पटल प्रशिक्षण को आई.टी. शिक्षा पाठ्यक्रम व परीक्षा का अनिवार्य अंग बना दिया जाए तब कहीं जाकर आनेवाली पीढ़ियाँ अपनी भाषा में काम कर सकेंगी।

वैश्विक हिंदी सम्मेलन मुंबई said...

महोदया,

आपके प्रयास, आपका जज्बा वंदनीय है । शब्द नहीं है व्यक्त करने के लिए । यदि सभी विद्यालयों में माध्यमिक स्तर पर हिंदी या राज्य की भाषा में इन्स्क्रिप्ट कुंजी पटल प्रशिक्षण को आई.टी. शिक्षा पाठ्यक्रम व परीक्षा का अनिवार्य अंग बना दिया जाए तब कहीं जाकर आनेवाली पीढ़ियाँ अपनी भाषा में काम कर सकेंगी।

BHANU BISHT said...

आप लोग हिन्दी में कम्प्यूटर सीखने के लिये इस ब्लाग का प्रयोग कर सकते है ।


http://aaoseekhenn.blogspot.in/

हरिराम said...

लीना जी, आपके इनस्क्रिप्ट हिन्दी कुंजीपटल के चित्र में 7 मुख्य कुंजियों का स्थान खाली है।
जबकि अधिकांशतः प्रयोग में आनेवाले / " ' ‍! ? ; आदि विराम चिह्नों को टाइप करने के लिए अंग्रेजी की-बोर्ड में लौटना पड़ता है, जिससे गति काफी कम हो जाती है।
अतः इन कुंजी स्थानों में मैंने इन विराम चिह्नों को रखकर "परिवर्द्धत" इनस्क्रिप्ट कीबोर्ड विकसित किया, जिससे टंकण गति काफी तीव्र हो गई है।